Home Power Links Contact Us Hindi Site

हिंदी कार्यशाला का आयोजन
हिंदी कार्यशाला का आयोजन

कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में हिंदी अनुभाग (कार्मिक एवं प्रशासन विभाग) के सौजन्य से ऋषिकेश, देहरादून नैनीताल कार्यालय के गैर कार्यपालक कर्मचारियों हेतु दि. 02.03.2013 को एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि श्री एस.के.अग्रवाल, महाप्रबंधक प्रभारी (का.एवं प्रशा.) ने किया। इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक (का.-भर्ती एवं औ.सं.), श्री सी. मिन्ज ने पुष्प गुच्छ भेंट कर मुख्य अतिथि का स्वागत किया। मुख्य अतिथि श्री एस.के.अग्रवाल, महाप्रबंधक प्रभारी (का.एवं प्रशा.) ने अतिथि संकाय सदस्य डॉ. दिनेश चमोला, प्रभारी हिंदी, इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ पेट्रोलियम, देहरादून को पुष्पगुच्छ भेंट कर सम्मानित किया।

 

महाप्रबंधक प्रभारी (का.एवं प्रशा.), श्री एस.के.अग्रवाल ने अपने अध्यक्षणीय संबोधन में कहा कि हिंदी बहुत ही सरल एवं सुबोध भाषा है पंरतु फिर भी कुछ लोग इसका प्रयोग करने में हिचकिचाहट महसूस करते हैं। उन्होंने हिंदी की सरलता के बारे में अनेक उदाहरण देकर सभी उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों का मार्गदर्शन किया। उन्होंने अपने संबोधन में बताया कि हिंदी मेहमान नवाजी की भाषा है। इसको बोलने में प्यार, आत्मीयता, सादर-सत्कार झलकता है, जो अंग्रेजी की शैली वाक्य संरचना से कहीं अधिकतर बेहतर है।

 

हिंदी कार्यशाला का शुभारंभ होने के बाद अतिथि वव्ता डॉ. दिनेश चमोला ने भोजनावकाश से पूर्व दो सत्रों में व्याख्यान दिया। प्रथम सत्र में डॉ. चमोला ने प्रतिभागियों को हिंदी पत्राचार एवं टिप्पणी लेखन के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही कार्यालयीन काम-काज में हिंदी का सरलतम प्रयोग करने पर भी प्रकाश डाला। दूसरे सत्र में उन्होंने अनुवाद, लिपि, वर्तनी मानक शब्दावली के बारे में प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया। इन विषयों के बारे में प्रतिभागियों ने बड़ी संख्या में प्रश्न पूछकर अपना ज्ञानवर्धन किया।

 

भोजनावकाश के बाद के प्रथम सत्र में श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव, प्रबंधक(हिंदी) ने दो सत्रों में व्याख्यान दिया। प्रथम सत्र में उन्होंने प्रतिभागियों को भारत सरकार की राजभाषा नीति एवं नियम के बारे में जानकारी दी तथा कर्मचारियों को राजभाषा कार्यान्वयन में तेजी लाने तथा उसमें रुचि उत्पन्न करने हेतु प्रतिभागियों को प्रेरित किया। दूसरे सत्र में श्री श्रीवास्तव ने प्रतिभागियों को हिंदी की तिमाही रिपोर्ट भरने का तरीका बताया एवं भारत सरकार के गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम की जानकारी दी गई। इस सत्र में कर्मचारियों को निगम में लागू विभिन्न प्रोत्साहन योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी और बताया कि इनका लाभ कर्मचारी उठा सकते हैं। उन्होंने सभी प्रतिभागियों से आग्रह किया कि वे राजभाषा कार्यान्वयन गतिविधियों को तेजी से बढ़ाने का प्रयास अपने स्तर पर जारी रखें।

 

इस कार्यशाला में 27 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। उन्हें इस अवसर पर हिंदी अनुभाग की ओर से हिंदी की साहित्यिक पुस्तकों के साथ-साथ रोजमर्रा के कार्यालयीन प्रयोग हेतु शब्दकोश भी वितरित किए गए।

 

अंत में समापन अवसर पर प्रबंधक(हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव ने सभी प्रतिभागियों को कार्यशाला में सक्रियता से भाग लेने के लिए धन्यवाद दिया।

 

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited